अब यूपी में गो-सफारी खोलने की तैयारी में योगी सरकार

Spread the love

कौमी गुलदस्ता ब्यूरो (लखनऊ): आवारा व निराश्रित पशुओं की समस्या से निजात पाने के लिए अब सूबे की योगी सरकार गो-सफारी खोलने पर विचार कर रही है. इसकी शुरुआत बाराबंकी से होगी. अगर सब कुछ ठीक रहा तो प्रदेश के अन्य जिलों में भी इसकी शुरुआत होगी. दरअसल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में निराश्रित गोवंश के संबंध में हुई बैठक में पशुधन एवं दुग्ध विकास मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने गो-सफारी बनाने का प्रस्ताव रखा.

मुख्यमंत्री ने दिलचस्पी दिखाई

मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी के इस प्रस्ताव पर मुख्यमंत्री ने दिलचस्पी दिखाई है. साथ ही इस पर विस्तृत कार्ययोजना के साथ रिपोर्ट तलब की है. मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने कहा कि जिन जिलों में पशुपालन विभाग के पास पर्याप्त भूमि है वहां गो-सफारी बनाया जा सकता है. इसमें 15-20 हजार गाय प्राकृतिक वातावरण में रह सकती हैं. उन्होंने कहा कि बाराबंकी जिले में कमियार घाट पर 25 सौ एकड़ भूमि उपलब्ध है. पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर इस पर गो-सफारी बनाई जा सकती है.

जमीन की मांगी गई रिपोर्ट
उन्होंने बताया कि बाराबंकी के अलावा सुने के कई जिलों में पशुपालन विभाग के पास जमीन है. मसलन शाहजहांपुर में 392 एकड़ और महाराजगंज में लगभग 800 एकड़ जमीन उपलब्ध है. फिलहाल ने उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि अन्य जिलों में कितनी जमीन उपलब्ध है उसकी रिपोर्ट तैयार की जाए.

पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने पर भी विचार

चौधरी ने बताया कि इन गो-सफारी को भविष्य में पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने पर भी विचार किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि गो-सफारी में गायों को घूमने टहलने के लिए पर्याप्त स्थान मिलेगा। गो-सफारी में गोवंश के गोबर, गो-मूत्र आदि का सदुपयोग किया जा सकता है. फिलहाल योजना को क्रियान्वित करने के लिए विस्तृत कार्य योजना तैयार कराई जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *