अब HOPE से तैयार होगा उत्तराखंड में रोज़गार का आधार

Spread the love

देहरादून: कोरोना संकट में नौकरी, काम-धंधे पर आए संकट के बीच उत्तराखंड सरकार ने एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है. राज्य के कुशल-अकुशल युवाओं का डाटा बेस बनाने और उसके आधार पर रोज़गार-स्वरोज़गार के लिए अवसर उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से एक वेबसाइट लॉंच की गई है. मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बुधवार को सचिवालय में मंत्रिमंडल के साथ ‘HOPE’ (helping out people Everywhere) पोर्टल का लोकार्पण किया. इस पोर्टल से उत्तराखंड में रहने वाले उत्तराखंडी तो जुड़ेंगे ही प्रदेश से बाहर रह रहे और काम कर रहे प्रवासी भी कनेक्ट हो पाएंगे.

‘HOPE’ (http://hope.uk.gov.in/) पोर्टल में लॉगइन कर आप देख सकते हैं कि यह एक आसान सा फ़ॉर्म है. डुप्लीकेसी न हो और एक्यूरेट डाटा मिले इसलिए इसमें आधार नंबर भी मांगा गया है. पोर्टल के माध्यम से उत्तराखण्ड के ऐसे युवाओं का डाटा बेस तैयार करना है जो विभिन्न राज्यों और उत्तराखण्ड में काम करने वाले (या अभी बेरोज़गार) Skilled professional हैं.

इस पोर्टल में उत्तराखण्ड में कौशल विकास विभाग से प्रशिक्षण लेने का भी विकल्प दिया गया है. राज्य सरकार का मानना है कि यह पोर्टल प्रदेश के युवाओं के लिए एक सेतु के रूप में कार्य करेगा. इस पोर्टल के डाटा बेस का उपयोग राज्य के समस्त विभाग तथा अन्य रोज़गार प्रदाता युवाओं को स्वरोज़गार/रोज़गार से जोड़ने के लिए करेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *