अमित शाह बोले- देशभर में लागू करेंगे NRC

Spread the love

जम्मू और कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पहला इंटरव्यू दिया है. उन्होंने कहा कि 370 हटाने के बाद कश्मीर में हालात शांतिपूर्ण हैं. वहां पर एक भी गोली नहीं चली. एक न्यूज़ चैनल में दिये इंटरव्यूह से उन्होंने कहा कि कुल मिलाकर कश्मीर में परिस्थितियां ठीक है. अनुच्छेद 370 के कारण कश्मीर में भ्रष्टाचार हुआ और 40 हजार लोग मारे गए. साथ ही यह भी कहा कि देश में सिटीजन बिल भी लेकर आएंगे.

‘फैसले को जनता स्वीकार करेगी’

राम मंदिर को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर अमित शाह ने कहा कि इस देश की जनता राम मंदिर के मामले पर सर्वोच्च अदालत के फैसले को सम्मान के साथ स्वीकार करेगी. मुझे विश्वास है कि दोनों समुदाय इस निर्णय को स्वीकार करेंगे और समस्या का शांतिपूर्ण समाधान होगा.

सिटीजन बिल भी लाएंगेः शाह

देशभर में एनआरसी लागू किए जाने को लेकर अमित शाह ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार का एक चरित्र है कि हम जो कहते हैं वो हम जरूर करते हैं, उचित समय आने पर हम देशभर में एनआरसी लागू करेंगे और देश में सिटीजन बिल भी लाएंगे. हालांकि सिटीजन बिल कब तक आएगा, इस पर उन्होंने कोई ठोस जवाब नहीं दिया, बल्कि यह कहा कि हम सिटीजन बिल लाएंगे.

अर्थव्यवस्था में भारत की स्थिति बेहतरः शाह

देश की खस्ताहाल अर्थव्यवस्था के बारे में गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की जो स्थिति है उसकी तुलना में हमारी अर्थव्यवस्था अच्छी स्थिति में है. दुनिया में जीडीपी में गिरावट और अंतरराष्ट्रीय मंदी की तुलना में भारत की स्थिति बेहतर है. अगर इसका सही प्रकार अध्ययन किया जाएगा तो बात स्पष्ट होती है. अर्थव्यवस्था के मामले में भारत के बांग्लादेश से पिछड़ने के बारे में अमित शाह ने कहा कि दोनों देशों की अर्थव्यवस्था के बारे में बात नहीं की जानी चाहिए. यह सिर्फ एक तत्कालिक स्थिति है. गिरावट महज एक अस्थायी व्यवस्था है. संभव नहीं कि दुनिया की स्लोडाउन का असर भारत पर न पड़े.

घाटी की जनता को उकसाने का मौका नहीं देंगेः शाह

अमित शाह ने अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद की स्थिति का जिक्र करते हुए कहा कि घाटी में सेब का व्यापार भी ठीक चल रहा है. आज से मोबाइल सेवा भी शुरू हो गई है. राज्य में एहतियातन 4000 लोगों को पकड़ा गया. कुछ पत्थरबाजों को हिरासत में लिया गया. घाटी की जनता को उकसाने का मौका नहीं देंगे. उन्होंने कहा कि 370 के कारण कश्मीर में भ्रष्टाचार हुआ. अनुच्छेद 370 के कारण ही राज्य में 40 हजार लोग मारे गए.

अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद राज्य में संभावित हिंसा पर अंकुश लगाए जाने पर अमित शाह ने कहा कि कुछ सांसदों की ओर से संसद में कहा गया था कि फैसले के बाद रक्तपात होगा, खून की नदियां बहेंगी. मगर जम्मू-कश्मीर में ऐसा कुछ नहीं हुआ. 370 के कारण वहां जनता का कुछ भला नहीं होता था, कुछ गिने चुने नेताओं को 370 से फायदा होता था, ये बात अब स्पष्ट हो गई है.

उन्होंने कहा कि संसद सत्र के दौरान हमने फारूक अब्दुल्ला को हाउस अरेस्ट नहीं किया था. तब फारूक अब्दुल्ला अपनी मर्जी से अंदर थे, हमने उन पर कोई रोक नहीं लगाई थी. फारूक अब्दुल्ला को हाउस अरेस्ट नहीं किया था. मैं मानता हूं कि धारा 370 के कारण 40 हजार लोग मारे गए. उमर और महबूबा को हमने ऐहतियातन हिरासत में लिया है. लोगों की जानें जाएं, इससे अच्छा है कि कुछ लोग जेल में रहें.

370 के कारण नहीं हुआ विकासः शाह

राज्य से अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी किए जाने के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि मेरा मानना है कि 370 के कारण जम्मू-कश्मीर में विकास नहीं हो पाया था, राज्य में काफी भ्रष्टाचार हुआ था. इसकी जिम्मेदारी किसी की भी तय नहीं थी. अनुच्छेद 370 हटने के बाद अब वहां नीचे तक विकास पहुंचेगा.

अनुच्छेद 370 को हटाने के बाद जम्मू कश्मीर में शांतिपूर्ण स्थिति है. राज्य में एक भी जगह कर्फ्यू नहीं है. सिर्फ 6 थानों में धारा 144 लगा हुआ है. सेब का कारोबार आराम से चल रहा है. रोड में यातायात चल रहा है. मस्जिदों में लोग प्रार्थनाएं भी कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *