आदित्य ठाकरे ने राज्यपाल से कहा- उद्धव ठाकरे करेंगे सरकार पर फैसला

Spread the love

मुंबई (कौमी गुलदस्ता संवाददाता): महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री की कुर्सी को लेकर बीजेपी-शिवसेना के बीच चल रही खींचतान के बीच गुरुवार शाम आदित्य ठाकरे पार्टी के सभी विधायकों के साथ गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी से मिले. आदित्य ठाकरे के साथ पार्टी विधायक दल के नेता एकनाथ शिंदे और सीनियर पार्टी लीडर रामदास कदम भी थे. हालांकि राज्यपाल से मुलाक़ात के बाद आदित्य ने स्पष्ट कर दिया कि ये मुलाक़ात सरकार बनाने के लिए नहीं थी और सरकार बनाने से जुड़ा कोई भी फैसला उद्धव ठाकरे ही करेंगे.

इस मुलाक़ात के बाद शिवसेना विधायकों ने मीडिया से कहा कि वे सिर्फ किसानों के मुद्दे को लेकर बात करने के लिए राज्यपाल से मुलाक़ात करने आए हैं. शिवसेना विधायक दल ने किसानों के मुद्दों और राज्य में सूखे की स्थिति को लेकर राज्यपाल को एक पत्र भी सौंपा. इससे पहले शिवसेना के विधायक और ठाकरे परिवार के करीबी संजय राठौड़ ने कहा था कि हम राज्यपाल के साथ सरकार बनाने पर भी चर्चा कर सकते हैं.

महाराष्ट्र के किसानों के बारे में बात
राज्यपाल से मुलाकात के बाद निकले आदित्य ठाकरे ने कहा कि उनकी पार्टी के नेताओं ने राज्यपाल से महाराष्ट्र के किसानों के बारे में बात की. उन्होंने कहा कि हमने राज्यपाल से किसानों के मुद्दे पर बात की जिसमें हमने उनसे किसानों की मदद करने के लिए कहा. सूखा के बारे में बात की किसानों के मुद्दे पर बात की. उन्होंने कहा कि अभी महाराष्ट्र में कोई सरकार नहीं है. ऐसे में राज्यपाल ही किसानों का ख्याल रखें.

नुकसान की भरपाई
आदित्य ने कहा कि बारिश और तूफ़ान जैसी आपदाओं से किसानों को होने वाले नुकसान की भरपाई होनी चाहिए. उन्होंने बताया कि राज्यपाल ने कहा कि वो केंद्र से बात करेंगे और लोगों की मदद करेंगे. वहीं सरकार बनाने के सवाल पर आदित्य ने कहा कि इस मामले में उद्धव ठाकरे फैसला लेंगे. मुझे किसानों की चिंता है.

अभी भी खींचतान जारी
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बीजेपी को 120 विधायकों का समर्थन मिल सकता है. जिसमें 15 निर्दलीय विधायक भी बीजेपी के साथ आ सकते हैं. माना जा रहा है कि शिवसेना के सपोर्ट ना करने की स्थिति में अगर एनसीपी वॉक आउट करती है तो सदन की संख्या 234 हो जाएगी. ऐसे में बीजेपी को बहुमत के लिए 118 लोग चाहिए. जिसमें अब बीजेपी को 120 विधायकों का समर्थन मिल सकता है. ऐसे में अगर शिवसेना साथ में आती है तो भी शिवसेना की बारगेनिंग क्षमता कम हो जाएगी.

एकनाथ शिंदे बनाए गए विधायक दल के नेता
बता दें कि गुरूवार सुबह मुंबई में शिवसेना विधायक दल की बैठक हुई, जिसमें पार्टी के वरिष्ठ नेता एकनाथ शिंदे को नेता चुना गया. शिंदे के नाम का प्रस्ताव शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के बेटे और वर्ली से विधानसभा चुनाव जीते आदित्य ठाकरे ने रखा.

इससे पहले चर्चा थी कि विधायक दल के नेता के लिए आदित्य ठाकरे का नाम प्रस्तावित किया जाएगा, लेकिन सभी अटकलों पर विराम लगाते हुए खुद आदित्य ने एकनाथ शिंदे के नाम का प्रस्ताव रखा. बता दें कि इससे पहले बुधवार को बीजेपी विधायक दल की भी बैठक हुई थी, जिसमें देवेंद्र फडणवीस को सर्वसम्मति से विधायक दल का नेता चुना गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *