उत्तराखंड में सेक्स और सियासत का चोली दामन का साथ

Spread the love

देहरादून: उत्तराखंड की सियासत में एक बार फिर सेक्स कांड की गूंज है. बीजेपी के विधायक महेश नेगी यौन शोषण प्रकरण प्रदेश की सियासत के लिए नई बात नहीं है. वर्ष 2000 में अलग राज्य बनने के बाद उत्तराखंड की प्रथम निर्वाचित सरकार से लेकर वर्तमान तक- सेक्स, सत्ता और स्टिंग का चोली दामन का साथ बना हुआ है. इससे जो एक नैरेटिव सेट हुआ उसने समय-समय पर पॉवर कॉरीडोर में न सिर्फ ऊथल-पुथल मचाई बल्कि, सियासी समीकरण भी उलट कर रख दिए.

वर्ष 2002 में उत्तराखंड में नारायण दत्त तिवारी के नेतृत्व में पहली निर्वाचित सरकार बनी. लेकिन सरकार बनते ही तिवारी आरोपों में घिर गए. दिल्ली से लेकर देहरादून तक उज्जवला प्रकरण की गूंज खूब सुनाई दी. इस दौरान जेनी प्रकरण ने तो पूरे पॉवर कॉरीडोर को ही हिलाकर रख दिया. तत्कालीन राजस्व मंत्री हरक सिंह रावत को मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा. इसका असर यह हुआ कि वर्ष 2007 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को सत्ता से बाहर होना पड़ा. यह अलग बात है कि डीएनए टेस्ट में पाक साफ निकले हरक सिंह रावत इसे सिम्पैथी में कन्वर्ट कर चुनाव जीतने में कामयाब रहे.

उत्तराखंड में सत्ता का सेक्स स्कैंडल से है पुराना नाता
वहीं वर्ष 2009 में सेक्स स्टिंग में फंसने के कारण एन.डी तिवारी को आंध्र प्रदेश के राज्यपाल पद से हटना पड़ा. लेकिन सियासत उत्तराखंड में भी खूब हुई. नौछुमी नारैण जैसे गीत बने. चुनाव में विपक्षियों के लिए यह ऐसा हथियार था, जिसका जवाब कांग्रेस के पास नहीं था. वर्ष 2013 में एक बार फिर मंत्री हरक सिंह रावत पर सेक्स स्कैंडल में फंसने के आरोप लगे. यह मामला भी कुछ दिन तक सियासी हल्कों में तैरता रहा.

साल 2016 में भ्रष्टाचार को लेकर तत्कालीन मुख्यमंत्री हरीश रावत के स्टिंग प्रकरण ने पूरा नैरेटिव बदल दिया. इस एक स्टिंग ने विपक्षी बीजेपी में जान फूंक दी. वर्ष 2017 में विधानसभा का पूरा चुनाव इसी मुद्दे पर लड़ा गया. कांग्रेस ने न सिर्फ सत्ता ही गंवाई बल्कि खुद हरीश रावत दो-दो जगह से चुनाव हार गए. बीजेपी ने 57 सीटें हासिल कर प्रचंड बहुमत से सत्ता में वापसी की. लेकिन हरीश रावत का आज भी इस प्रकरण से पीछा नहीं छूटा है.

बहरहाल, प्रचंड बहुमत की त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार भी इस जाल से बाहर नहीं निकल पाई. 2018 में बीजेपी के महामंत्री संजय कुमार पर यौन शोषण के आरोप लगे. लेकिन अब पार्टी के विधायक महेश नेगी सैक्स स्कैंडल के दायरे में घिर गए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *