उत्तराखण्ड: अल्मोड़ा के मंदिर में हंगामा करने वाले ठश्रच् सांसद के खिलाफ थ्प्त् दर्ज

Spread the love

अल्मोड़ा: कोरोना की वजह से धार्मिक स्थलों में आम लोगों के दर्शन करने के समय को लेकर सरकार ने नियम बना रखे हैं. निर्धारित समय के लिए ही धार्मिक स्थल खोले जा रहे हैं. इसके बावजूद अल्मोड़ा के जागेश्वर धाम मंदिर में तय समय के बाद दर्शन करने पहुंचे भाजपा सांसद ने बीते दिनों जमकर बवाल काटा. आरोप है कि कोविड प्रोटोकॉल का हवाला देकर जब मंदिर के पुजारियों ने सांसद को दर्शन से रोका तो उन्होंने गाली-गलौज की. इसके बाद मंदिर परिसर में जमकर हंगामा हुआ. इसको लेकर अब बरेली के आंवला सीट से बीजेपी के सांसद धर्मेंद्र कश्यप के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है.

बीजेपी सांसद के खिलाफ दर्ज एफआईआर में उन पर शांति भंग करने और सरकारी सेवकों के काम में बाधा पहुंचाने का आरोप लगा है. अल्मोड़ा की एसडीएम मोनिका के मुताबिक भाजपा सांसद और उनके समर्थकों के खिलाफ पुलिस ने आईपीसी की धारा 188 और 504 के तहत शिकायत दर्ज की है. आपको बता दें कि जागेश्वर धाम में देर से पहुंचने के बाद जब पुजारियों और मंदिर की प्रबंध समिति के सदस्यों ने सांसद व उनके समर्थकों को दर्शन करने से रोका, उस पर धर्मेंद्र कश्यप भड़क गए थे. उन्होंने मंदिर परिसर में ही पुजारियों और अन्य लोगों के साथ अभद्रता की. सांसद और उनके समर्थक जागेश्वर धाम में हंगामा करने के बाद लौट गए. इधर, मामले की खबर मिलते ही विपक्षी दल मुखर हो उठे. कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के स्थानीय नेताओं ने इस मामले में सांसद पर कार्रवाई की मांग की है. बीजेपी सांसद के हंगामे की खबर मिलने के बाद मंदिर पर पहुंचे जागेश्वर विधायक गोविंद सिंह कुंजवाल और समर्थकों ने मंदिर में हंगामा करने को लेकर सांसद के खिलाफ धरना भी दिया. विधायक कुंजवाल ने कहा कि बीजेपी सांसद मंदिर में पूजा-अर्चना की जगह मारपीट करने और पुजारियों को गाली देने आए थे. उन्होंने कहा कि अगर आरोपी सांसद के खिलाफ कार्रवाई न हुई तो कांग्रेस जोरदार आंदोलन करेगी. वहीं, आम आदमी पार्टी के नेताओं ने भी सांसद धर्मेंद्र कश्यप का पुतला जलाकर प्रदर्शन किया. आप ने आरोप लगाया कि उत्तराखंड की संस्कृति को बिगाड़ने के लिए सांसद ने इस तरह का काम किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *