पारदर्शिता के साथ हो रहा उत्तराखंड का निर्माण : सीएम

Spread the love

(देहरादून) ब्यूरो रिपोर्टः गणतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर प्रदेश वासियों को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने अपने संदेश में कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ट्रेड, टेक्नोलॉजी और टूरिज्म के मूल मंत्र को आत्मसात कर ईमानदारी और पारदर्शिता के साथ आदर्श उत्तराखंड के निर्माण की दिशा में अग्रसर हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड निर्माण के मूल में रही जन भावनाओं को साकार करने के लिए प्रदेश के सीमांत क्षेत्रों का विकास किया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में स्वरोजगार के साधन उपलब्ध कराने के लिए न्याय पंचायत स्तर पर ग्रोथ सेंटर स्थापित किए जा रहे हैं। शिक्षा के समग्र विकास के लिए स्कूल, कॉलेज तथा विश्वविद्यालयों में सेंटर ऑफ एक्सीलेंस स्थापित किए जा रहे हैं।

प्रदेश में 250 की आबादी वाले गांवों को पीएमजीएसवाई के तहत सड़क मार्गों से जोड़ा जा रहा है। टिहरी में डोबरा-चांठी मोटर झुला पुल का काम मार्च 2020 तक पूरा कर लिया जाएगा। राज्य में युवाओं को प्लेटफार्म उपलब्ध करवाने के लिए स्टार्ट अप पॉलिसी लागू की गई है। इन्वेस्टर्स समिट के 12 माह की अवधि में लगभग 18 हजार करोड़ रुपये का निवेश प्रदेश में हो चुका है।

प्रदेश में पर्यटन को उद्योग का दर्जा दिया गया है। होम स्टे के माध्यम से पर्यटन अब ग्रामीणों की आजीविका का साधन बन रहा है। प्रदेश को मोस्ट फ्रेंडली स्टेट फॉर फिल्म शूटिंग घोषित किया है। बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री और इनके आसपास के मंदिरों के प्रबंधन के लिए देवस्थानम विधेयक बनाया गया है। चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के नियंत्रण में कुशल प्रबंधन संभव होगा। पुजारी, न्यासी, तीर्थ पुरोहितों, पंडों और हक-हकूकधारियों को वर्तमान में प्रचलित देव दस्तूरात और अधिकार यथावत रहेंगे।
43 जेसीओ को रिटायरमेंट के बाद ऑनरेरी रैंक
गणतंत्र दिवस पर थलसेना ने कुल 295 रिटायर जूनियर कमीशंड ऑफिसर (जेसीओ) को ऑनरेरी कैप्टन का रैंक सम्मान प्रदान किया है। इसमें गढ़वाल राइफल्स के 22 व कुमाऊं रेजीमेंट के 21 सेवानिवृत्त जेसीओ शामिल हैं। वहीं सेवारत गढ़वाल राइफल्स के 28 जेसीओ को ऑनरेरी लेफ्टिनेंट व छह को ऑनरेरी कैप्टन रैंक मिली है।

जबकि कुमाऊं रेजीमेंट के 27 जेसीओ को ऑनरेरी लेफ्टिनेंट व पांच को ऑनरेरी कैप्टन के रैंक से नवाजा गया। सैन्य सेवा के दौरान ही नहीं बल्कि सेवानिवृत्त होने के बाद भी सेना अपने जवानों का सम्मान करती है। प्रतिवर्ष स्वतंत्रता दिवस व गणतंत्र दिवस के अवसर पर जारी होने वाली वीरता पदक व ऑनर प्राप्त जवानों की सूची में सेना के रिटायर जवानों का नाम भी शामिल होता है। सैन्य सेवा के दौरान सराहनीय कार्य करने वाले इन जवानों को रिटायरमेंट के बाद ऑनरेरी रैंक की उपाधि देकर सम्मान दिया जाता है।

इस बार गढ़वाल राइफल्स के रिटायर सूबेदार मेजर बलवंत सिंह, दरवान सिंह, दिनेश कुमार, महिपाल सिंह बिष्ट, चंद्रमोहन सिंह, देवेंद्र प्रसाद, धीरज कुकरेती, दिनेश सिंह रावत, जबर सिंह चौहान, लाल सिंह, महादेव प्रसाद, महेंद्र सिंह, मातबर सिंह, मेहरबान सिंह, मातबर सिंह बिष्ट, प्रेम सिंह, सरत सिंह, शक्ति सिंह, शिशुपाल सिंह, ताजवर सिंह व विक्रम सिंह को ऑनरेरी रैंक का सम्मान मिला है।

जबकि कुमाऊं रेजीमेंट के सूबेदार मेजर ऑनरेरी लेफ्टिनेंट मुकेश, रघुबीर सिंह, अभय सिंह, दलीप सिंह, दीवान सिंह, डीवी यादव, दुर्गा सिंह कनियाल, गोविंद सिंह, हीरा सिंह कपकोटी, किशन सिंह, ललित मोहन, महेेश चंद्र, नरेंद्र सिंह, पूरन चंद्र, आरबी शर्मा, राजेंद्र सिंह, राम अवतार, राजेंद्र बिष्ट, सुनील कुमार, राजेंद्र सुयाल व उम्मेद सिंह को ऑनरेरी रैंक मिला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *