बंशीधर भगत बने उत्तराखंड भाजपा के नए अध्यक्ष, जानिए उनका राजनीतिक सफर

Spread the love

देहरादून। उत्तराखंड भाजपा को नया प्रदेश अध्यक्ष मिल गया है। वरिष्ठ नेता बंशीधर भगत को भाजपा की कमान सौंपी गई है। प्रांतीय मुख्यालय में हुई बैठक में बंशीधर भगत को सर्वसम्मति से इस पद पर चुना गया। केंद्रीय पर्यवेक्षक अर्जुन मेघवाल ने उनके की घोषणा की।

उत्तराखंड भाजपा के मुखिया पद की दौड़ में कालाढूंगी विधायक बंशीधर भगत पहले से ही अकेले दावेदार के रूप में उभरकर सामने आए थे। इसके बाद गुरुवार को भाजपा प्रदेश कार्यालय में केंद्रीय पर्यवेक्षक की मौजूदगी में हुई बैठक में उनके नाम पर मुहर भी लग गई है। बंशीधर भगत भाजपा के आठवें प्रदेश अध्यक्ष बने हैं। इससे पहले अजय भट्ट भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रहे। आपको बता दें कि भगत धार्मिक क्षेत्र में भी सक्रिय रहे हैं। वह ऊंचापुल ग्रामीण रामलीला कमेटी के अध्यक्ष पद पर रहे और रामलीला मंचन में राजा दशरथ के पात्र का अभिनय करते हैं।

जीवन परिचय नाम

बंशीधर भगत

जन्म: 08 अगस्त 1951 (भक्यूड़ा -भीमताल)

निवास: लोहरियाताल, हल्द्वानी

शिक्षा: हाईस्कूल

राजनीतिक सफर

-1970 में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से जुड़े

-1975 में जनसंघ के सदस्य

-1989 में भाजपा के नैनीताल

– ऊधमसिंहनगर के जिलाध्यक्ष बने

-1991 में पहली बार नैनीताल से विधायक

-1993 में उप्र में राज्यमंत्री वन

-1996 में खाद्य, रसद एवं पर्वतीय विकास मंत्री

-2000 में उत्तराखंड की अंतरिम सरकार में कैबिनेट मंत्री

-2007 में कैबिनेट मंत्री

-2012 और 2017 में विधायक

 

अब तक रहे प्रदेश अध्यक्ष
पूरन चंद शर्मा – 2000 से 2002
मनोहर कांत ध्यानी – 2002 से 2003
भगत सिंह कोश्यारी – 2003 से 2007
बच्ची सिंह रावत – 2007 से 2009
बिशन सिंह चुफाल – 2009 से 2013
तीरथ सिंह रावत – 2013 से 2015
अजय भट्ट – 2015 से 2020

ताजपोशी के बाद कार्यकर्ताओं में जश्न का माहौल

कालाढूंगी विधायक बंशीधर भगत के प्रदेश अध्यक्ष पद पर ताजपोशी की सूचना की सरगर्मी के बीच वह बुधवार देर शाम देहरादून के लिए रवाना हो गए थे। पहले उनकी ताजपोशी की संभावना जताई जा रही थीं।

बुधवार को कालाढूंगी विधानसभा क्षेत्र में कार्यकर्ताओं ने विधायक भगत को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने की सूचना पर खुशी जताते हुए मिठाई बांटी और विधायक के पक्ष में नारेबाजी की।

अब उनकी ताजपोशी के बाद कार्यकर्ताओं में जश्न का माहौल है। उनका कहना है कि विधायक भगत पार्टी के वरिष्ठ नेता हैं और उन्हें पार्टी संगठन की अच्छी समझ है। उन्हें प्रदेश अध्यक्ष बनाने के बाद उनके नेतृत्व में पार्टी और मजबूत बनेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *