BJP के साथ मिलकर सरकार बनाने पर आया दुष्यंत चौटाला का बयान

Spread the love

नई दिल्ली: हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी के साथ मिलकर सरकार बनाने पर जननायक जनता पार्टी के नेता और डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला का बयान आया है. दुष्यंत ने कहा कि हमने राज्य में स्थाई सरकार देने फैसला किया. दुष्यंत ने कहा, ‘हमने न तो बीजेपी के लिए वोट मांगे और न ही कांग्रेस से के लिए. जननायक जनता पार्टी (JJP) ने राज्य को एक स्थिर सरकार प्रदान करने का निर्णय लिया. जो लोग ‘वोट किसको, समर्थन किसको’ कह रहे हैं, क्या हमने उनके लिए वोट मांगे हैं?’ बता दें, मनोहर लाल खट्टर ने रविवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री पद की दूसरी बार शपथ ली. खट्टर के साथ दुष्यंत चौटाला ने भी शपथ ली है. दुष्यंत चौटाला को डिप्टी सीएम बनाया गया है.

भाजपा को समर्थन देने पर कांग्रेस ने दुष्यंत चौटाला पर निशाना साधा है. कांग्रेस नेता और पूर्व सीएम भूपिंदर हुड्डा ने कहा था कि ‘वोट किसको, समर्थक किसको’. वहीं, हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी शैलजा ने शनिवार को कहा कि जजपा ने भाजपा को समर्थन देकर मतदाताओं के साथ विश्वासघात किया है. हरियाणा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि जजपा को मिली 10 सीटें सत्ताधारी भाजपा के खिलाफ दिया गया जनादेश था लेकिन जजपा ने राज्य के मतदाताओं के साथ धोखा किया.

शैलजा के मुताबिक जिन्होंने भी जजपा को वोट दिया था आज वे भाजपा को समर्थन दिए जाने के बाद ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं. एक बयान में कांग्रेस नेता ने कहा कि 90 में से 75 सीटें जीतने का दावा करने वाली भाजपा को लोगों ने मुंहतोड़ जवाब दिया लेकिन लोग यह नहीं समझ पाए कि जजपा ने भाजपा के साथ समझौता किया था और उसकी ‘बी’ टीम के रूप में कार्य किया.

कांग्रेस नेता ने कहा, “उन्होंने (जजपा ने) चुनाव के नतीजे आने के बाद भाजपा को समर्थन देने में जरा भी देर नहीं की.” गौरतलब है कि बहुमत के आंकड़े न आने के बाद दुष्यंत चौटाला की जजपा के समर्थन से भाजपा ने हरियाणा में सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है. शैलजा ने जजपा का बेरोजगारों को 11,000 रुपए देने, राज्य के लोगों के लिए 75 फीसदी नौकरी आरक्षित करने और 5,100 रुपये की मासिक वृद्धावस्था पेंशन देने का वादों की याद दिलाई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *