COVID-19: योगी सरकार का फैसला, प्राइवेट लैब में 1600 रुपए में हो सकेगा RTPCR टेस्ट

Spread the love

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस (COVID-19) के संक्रमण की रोकथाम के लिए योगी आदित्यनाथ की सरकार ने बड़ा फैसला किया है. सरकार ने प्राइवेट लैब में कोरोना टेस्ट के लिए निर्धारित शुल्क की राशि लगभग 1000 रुपए घटा दी है. सरकार के नए आदेश के मुताबिक अब प्रदेश में स्थित प्राइवेट लैब में सिर्फ 1600 रुपए में कोरोना वायरस संक्रमण की जांच कराई जा सकेगी. प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने आज यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि अभी तक प्राइवेट लैब में आरटीपीसीआर टेस्ट 2500 रुपए में की जाती थी, लेकिन अब इसके लिए सिर्फ 1600 रुपए ही लिए जाएंगे.

स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव ने बताया कि आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए जरूरी टेस्ट किट रीजेंट्स और वीटीएम किट के दाम में कमी आने की वजह से सरकार ने कोरोना जांच की कीमत कम करने का फैसला किया है. उन्होंने बताया कि सरकार का यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू किया जा रहा है. अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि सरकार ने कोरोना जांच के लिए प्राइवेट लैब में लिया जाने वाला शुल्क 1600 रुपए तय कर दिया है. इससे ज्यादा पैसे लिए जाने की शिकायत मिली, तो लैब के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

अपर मुख्य सचिव ने यह भी बताया कि उत्तर प्रदेश महामारी एक्ट 1897 और यूपी महामारी कोविड-19 नियमावली के तहत सभी प्राइवेट लैब के लिए सरकार द्वारा तय प्रावधानों का पालन करना अनिवार्य होगा. इसकी अवहेलना या सरकार के निर्देशों का उल्लंघन करने पर कार्रवाई होगी.

24 घंटे में 94 की मौत
यूपी में कोरोना संक्रमण की रफ्तार थम नहीं रही है. अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस संक्रमित 94 लोगों की मौत हो चुकी है. कोरोना की वजह से प्रदेश में अब तक 4206 संक्रमितों की मौत हुई है. उन्होंने बताया कि अभी तक 2 लाख 21 हज़ार 506 लोग इलाज के बाद ठीक हुए हैं. 1 लाख 49 हज़ार 311 सैम्पल टेस्ट किए गए. प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में अब तक 70 लाख 67 हज़ार 208 सैम्पल टेस्ट किए गए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *