किसान आंदोलनः उत्तराखंड में आंदोलन को धार देने में जुटी कांग्रेस

Spread the love

देहरादून। किसान आंदोलन को प्रदेश में धार देने के लिए कांग्रेस ने अब कोशिश तेज कर दी है। कृषि कानूनों के विरोध में 25 फरवरी को कांग्रेस ऊधमसिंह नगर में बड़ा सम्मेलन करने जा रही है। कांग्रेस ने इसके लिए भारतीय किसान यूनियन से भी सहयोग मांगा है। इसी के तहत सोमवार को कांग्रेस पूरे प्रदेश में ब्लॉक स्तर पर पदयात्राएं और प्रदर्शन करेगी। इस सम्मेलन में कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह, नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश सहित अन्य नेता भी शामिल होंगे। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के मुताबिक प्रदेश के किसान भी कृषि कानूनों से खासे प्रभावित हैं। गाजीपुर सीमा पर किसान महापंचायत में भी पहुंचकर कांग्रेस ने किसान आंदोलन का समर्थन किया था और स्थानीय किसान समस्याओं को उठाया था। अनुबंधित खेती से पर्वतीय जिले सबसे अधिक प्रभावित होंगे। इसी तरह का फर्क हरिद्वार, ऊधमसिंह नगर आदि जिलों के किसानों पर भी पड़ेगा। यही वजह है कि यहां के किसान आंदोलित हैं।

प्रीतम सिंह के मुताबिक पर्वतीय क्षेत्र के किसानों की समस्याओं को उठाना और भी जरूरी है। पर्वतीय क्षेत्रों में अधिकतर सीमांत किसान हैं और संगठित रूप में इनकी आवाज नहीं उठ पाती। यही वजह है कि प्रदेश व्यापी प्रदर्शन में किसान आंदोलन के समर्थन के मुद्दे को शामिल किया गया है। रविवार को कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह सहित अन्य नेताओं ने भारतीय किसान यूनियन टिकैत गुट की प्रदेश प्रभारी से मुलाकात कर समर्थन का भरोसा दिलाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *