सीएम शिवराज सिंह ने कहाए लाडली लक्ष्मी योजना बदलाव लाई और प्रदेश में महिला सशक्तिकरण का हुआ नया युग शुरू

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को कुशाभाऊ ठाकरे सभागार में प्रदेश की लाड़ली लक्ष्मी बेटियां के खातों में छात्रवृत्ति राशि का अंतरण किया। सीएम ने सिंगल क्लिक से 3 लाख 33 हजार 842 लाड़ली लक्ष्मी बालिकाओं के लिए 107 करोड़ 67 लाख रुपए की छात्रवृत्ति राशि अंतरित की। इस राज्य स्तरीय कार्यक्रम में उत्कृष्ट उपलब्धियों के लिए 5 लाड़ली लक्ष्मी बालिकाओं को पुरस्कार भी दिए गए। इस अवसर पर सीएम ने कहा कि लाडली लक्ष्मी योजना बदलाव लाई है। प्रदेश में महिला सशक्तिकरण का नया युग शुरू हुआ है। हमारी बेटियां नेतृत्व करेंगी। उन्होंने कहा कि बेटियों की उच्च शिक्षा की फीस सरकार भरेगी। बेटियों के जीवन को बेहतर बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। 16 वर्ष में वर्ष-दर वर्ष लाड़ली लक्ष्मी योजना का महत्व बढ़ता गया। प्रदेश में 44 लाख से अधिक लाड़ली लक्ष्मी बेटियां हैं। गत 16 वर्ष में योजना की वर्ष दर वर्ष हुई प्रगति और बढ़ते महत्व की जानकारी भी कार्यक्रम में दी गई। कक्षा 6, 9, 11 एवं 12 में अध्ययरत सवा तीन लाख से अधिक बालिकाओं के लिए छात्रवृत्ति राशि का वितरण हुआ।

योजना के विस्तार से अब लाड़ली लक्ष्मी 2.0 के अंतर्गत उच्च शिक्षा के लिए फीस भरने का कार्य भी सरकार करेगी। इसी तरह लाड़ली बहना योजना के अंतर्गत इनकम टैक्स भरने वाली बहनों को छोड़कर सभी गरीब और मध्यम वर्गीय परिवारों की महिलाएं एक हजार रूपए प्रतिमाह की राशि प्राप्त करेंगी। बालिकाओं और बहनों को सशक्त बनाकर पर्यावरण संरक्षण, नशामुक्ति अभियान और अन्य सामाजिक अभियानों में उनकी भागीदारी से उन्हें नेतृत्व करने की भूमिका में लाने का प्रयास किया जा रहा है। कार्यक्रम में भोपाल की महापौर मालती राय उपस्थित थीं।

सीएम ने कहा कि हमने बहनों के लिए 50% आरक्षण चुनावों में दिया है। बहनें अब चूल्हा ही नहीं संभालेंगी, सरकार भी चलाएंगी। शिक्षक भर्ती में भी 50% आरक्षण बेटियों को दिया है। पुलिस भर्ती में हमने 30% आरक्षण बेटियों को दिया है। बहनों और बेटियों की जिंदगी संवर जाए, तो अपनी जिंदगी सफल हो जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *