एक्शन में त्रिवेंद्र रावत, टिकट की आस में बैठे पार्टी नेताओं पर दिया ये बड़ा बयान

Spread the love

नैनीताल: उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव में अब महज 10 महीने का वक्त बचा है. ऐसे में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के तेवर बदले-बदले से हैं. सीएम हर जिले के दौरे पर जा रहे हैं. विकास कार्यों को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक ले रहे हैं. साथ ही सरकार के कामकाज को लेकर पार्टी पदाधिकारियों,
दर्जा पाप्त राज्य मंत्रियों, ब्लॉक प्रमुखों, पार्षदों, जिला पंचायत सदस्यों और कॉपरेटिव सेक्टर से जुड़े लोगों से बात कर रहे हैं. सीएम अपने इसी कार्यक्रम के तहत गुरुवार और शुक्रवार को हल्द्वानी दौरे पर रहे, जहां उन्होंने नैनीताल जिले के साथ ही कुमाऊं मंडल के बड़े विकास कार्यों की समीक्षा की. गुरुवार को सीएम ने पार्टी पदाधिकारियों के साथ ही सरकार में कोई न कोई दायित्व पाए हुए पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं से अलग-अलग बैठकें की. इस दौरान पदाधिकारियों ने सीएम को कुछ लिखित सुझाव दिए. सीएम ने उन पर विचार करने का आश्वासन दिया. इसी दौरान उन्होंने ने पदाधिकारियों को खरी-खरी सुना दी.

रावत ने दो टूक कह दिया कि आप टिकट के रेस में न रहें. पार्टी को जो चेहरा मुफीद लगेगा टिकट उसी को मिलेगा. सूत्रों के मुताबिक, अपने भाषण के दौरान रावत के तेवर बेहद सख्त और अनुशासित थे. उन्होंने पार्टी पदाधिकारियों को साफ-साफ कहा कि आपको पार्टी के लिए मेहनत करनी है. न कि अपने निजी टिकट के लिए. बैठक में मौजूद रहे राज्य मंत्री धन सिंह रावत ने न्यूज18 को बताया कि सीएम ने साफ कहा कि पार्टी कार्यकर्ता और पदाधिकारी सरकार की योजनाओं का प्रचार करें. गांव-गांव तक ले जाएं. धन सिंह के मुताबिक सीएम ने दो टूक कहा कि टिकट उसी को मिलेगा जिसके पक्ष में स्थानीय कार्यकर्ता और जनता होगी. टिकट का आधार काम और सर्वे होगा. टिकट का अंतिम आधार केवल जीत होगा. सारे दरवाजे हैं. रावत ने एक और बड़ी बात कही. उन्होंने कहा कि जैसे पश्चिम बंगाल में दूसरी पार्टियां छोड़ नेता बीजेपी का दामन थाम रहे हैं, वैसे ही अगर उत्तराखंड में भी कोई नेता अगर बीजेपी में आता है तो उसका पार्टी स्वागत करेगी. साफ है कि बीजेपी दूसरी पार्टियों के नेताओं के स्वागत के लिए भी तैयार है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *